Jan 5, 2014

नया साल

कल न जाने कौनसा कमाल हो जायेगा,
कलेंडर बदलेगा, नया साल हो जायेगा

तुम्हें उम्मीद है कि दुनिया बदल जायेगी
मुझसे ज़िक्र न करो, बवाल हो जायेगा

मेरी सोच में तो वक़्त चेहरे बदलता है
कभी राख है, कभी गुलाल हो जायेगा

मेरे नसीब में सच बोलना ही लिखा है
इश्क मत कर बेटा, बदहाल हो जायेगा

फिर भी दुआ करता हूँ, तुम खुश रहना
तुम्हारा 2014 भी निहाल हो जायेगा

-दामोदर व्यास
Post a Comment

Followers