Mar 9, 2013

वक़्त

आज तुम्हारी बारी है...
कल मेरी आएगी.
सुन ले...
हिसाब चुकता कर लूँगा..
तुम्ही ने सिखाया है ये सब.
तुम वक़्त हो, अपनी ही चाल से मात खाओगे
Post a Comment

Followers